India News

Anurag Singh Thakur: अनुराग ठाकुर कल वाई-20 शिखर सम्मेलन की थीम, लोगो व वेबसाइट करेंगे लॉन्च

Anurag Singh Thakur: अनुराग ठाकुर कल वाई-20 शिखर सम्मेलन की थीम, लोगो व वेबसाइट करेंगे लॉन्च

Anurag Singh Thakur: केंद्रीय युवा कार्यक्रम और खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर 06 जनवरी यानी शुक्रवार को वाई-20 शिखर सम्मेलन के पूर्वावलोकन कार्यक्रम में वाई-20 की थीम, लोगो और वेबसाइट लॉन्च करेंगे।

  • भारत पहली बार वाई-20 शिखर सम्मेलन की मेजबानी कर रहा है।
  • वाई-20 युवाओं को जी-20 प्राथमिकताओं पर अपने दृष्टिकोण और विचार व्यक्त करने के लिए एक मंच प्रदान करता है।
  • 06 जनवरी को आयोजित होने वाला कार्यक्रम को दो सत्रों में विभाजित होगा।
  • पहले सत्र में युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर लोगो, वेबसाइट और थीम लॉन्च करेंगे।
  • जबकि दूसरे सत्र में पैनल चर्चा (युवा एचीवर्स) होगी।
  • कार्यक्रम दिल्ली के आकाशवाणी रंग भवन में आयोजित है।

कार्यवाही एजेंडा: Anurag Singh Thakur

पैनल चर्चा के दौरान इस विषय पर विचार किया जाएगा कि भारत महाशक्ति बनने के लिए अपनी युवा आबादी का उपयोग कैसे कर सकता है। इसके साथ-साथ पैनल के सदस्यों की व्यक्तिगत सफलता की कहानियों पर चर्चा भी हो सकती है। वाई-20 इंगेजमेंट समूह में भारत का मुख्य ध्यान विश्व के युवा नेताओं को एक साथ लाने, बेहतर भविष्य के लिए विचार-विमर्श करने तथा कार्यवाही एजेंडा तैयार करने पर है।

Read Also: Anurag Singh Thakur: कल वाई-20 शिखर सम्मेलन की थीम, लोगो व वेबसाइट करेंगे लॉन्च

विश्वविद्यालयों में विभिन्न विचार-विमर्श

  • वाई-20 की गतिविधियां वैश्विक युवा नेतृत्व और साझेदारी पर केंद्रित होंगी।
  • अंतिम वाई-20 शिखर सम्मेलन से पहले अगले आठ महीनों के लिए वाई-20 के पांच विषयों पर सम्मेलन होंगे.
  • साथ-साथ देश के विभिन्न विश्वविद्यालयों में विभिन्न विचार-विमर्श तथा संगोष्ठियां आयोजित की जायेंगी।
  • भारत के लिए जी-20 की अध्यक्षता “अमृतकाल” के प्रारंभ का भी प्रतीक है।
  • अमृतकाल 15 अगस्त 2022 को भारत स्वतंत्रता की 75 वीं वर्षगांठ से प्रारंभ होकर 25 साल की अवधि यानी स्वतंत्रता की शताब्दी तक मनाया जाएगा।
  • यह एक भविष्यवादी, समृद्ध, समावेशी और विकसित समाज की ओर बढ़ने के लिए है.
  • जिसके मूल में मानव-केंद्रित दृष्टिकोण है।
  • भारत वसुधैव कुटुम्बकम के विचार को मूर्त रूप देते हुए समग्र कल्याण सुनिश्चित करने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर व्यावहारिक समाधान खोजने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।

Show More

Related Articles

Back to top button