अर्थ जग़त

Bank: बैंक ट्रांजेक्शन में बढ़े बदलाव, जानिए क्या

Bank:अभी तक बैंक से पैसे निकालने के लिए सिर्फ हस्ताक्षर की जरूरत होती थी लेकिन जल्द ही आपको अपने चेहरे और आंखों की रेटिना को स्कैन कराना हो..

Bank: अभी तक बैंक से पैसे निकालने के लिए सिर्फ हस्ताक्षर की जरूरत होती थी लेकिन जल्द ही आपको अपने चेहरे और आंखों की रेटिना को स्कैन कराना होगा यानी सरकार बैंक ट्रांजेक्शन के लिए फेस आईडी और आईरिश स्कैनिंग की प्लानिंग कर रही है, हालांकि फेस आईडी की जरूरत सभी तरह के ट्रांजेक्शन के लिए नहीं, बल्कि कुछ खास मामलों में होगी।

रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के अनुसार: Bank

सरकार का मानना है कि इससे टैक्स चोरी में कमी आएगी। कुछ बैंक ऐसा करने की योजना बना रहे हैं। एक रिपोर्ट में कहा गया है कि बैंक नकद लेनदेन में सुरक्षा को और मजबूत करने का फैसला ले सकते हैं।

आप को बताते चले रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, सरकार ने बैंकों को कुछ लेन-देन में वार्षिक सीमा से अधिक लेनदेन के लिए आईरिस स्कैन और चेहरे के sadhan का उपयोग करने की अनुमति दी है। साथ ही कुछ बड़े लेन-देन के लिए चेहरे की पहचान और आंखों की स्कैनिंग के लिए भी कहा गया है।

  • मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो एक बैंकर ने सूचित किया
  • कि सत्यापन की अनुमति देने वाली सलाह सार्वजनिक नहीं है
  • और पहले इसकी सूचना नहीं दी गई है।
  • सत्यापन अनिवार्य नहीं है, लेकिन अगर पैन कार्ड नहीं दिया गया है,
  • तो आप सत्यापन के बिना लेनदेन नहीं कर पाएंगे।
  • साइबर कानून विशेषज्ञ पवन दुग्गल ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया।
  • गोपनीयता विशेषज्ञ बैंकों द्वारा चेहरे की पहचान का उपयोग करने की संभावना से चिंतित हैं।

भारतीय विशिष्ट पहचान: Bank

  • दिसंबर में भारत के वित्त मंत्रालय ने बैंकों से भारतीय विशिष्ट पहचान,
  • प्राधिकरण UIDAI के एक पत्र पर आवश्यक कार्रवाई करने के लिए कहा।
  • जिसमें सुझाव दिया गया था कि वेरिफिकेशन फेस आईडी और आईरिस स्कैनिंग के माध्यम से किया जाना चाहिए।
  • खासकर जहां किसी व्यक्ति का फिंगरप्रिंट वेरिफिकेशन फेल होता है।
  • आप को बता दे सरकार या किसी बैंक की ओर से इस रिपोर्ट पर कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।

Show More

Related Articles

Back to top button