India NewsState Newsक्राइमसोशल अड्डा

Blood Painting: इस प्यार को क्या नाम दे, प्यार में खून से बनाई पेंटिंग

Blood Painting: लिखे जो खत तुझे वो तेरी याद में हजारो रंग के नज़ारे बन गये ये गाना तो आप सभी ने सुना ही होगा ये गाना सुनते ही आप के मन में अप..

Blood Painting: लिखे जो खत तुझे वो तेरी याद में हजारो रंग के नज़ारे बन गये…… ये गाना तो आप सभी ने सुना ही होगा ये गाना सुनते ही आप के मन में अपने प्रेमी या प्रेमिका का ख्याल तो आया ही होगा अब आप सोच रहे होंगे की मैं ये गाना क्यों गुनगुना रही हु। वैसे तो लोग अपने प्यार को जताने के लिए काफी तरीके का इस्तमाल करते है जैसे फूल, टैडी, और कुछ समये पहले तो खून से लव लेटर लिखने का चलन चल रहा था लेकिन जैसे जैसे जमाना बदलता गया वैसे वैसे प्यार करने का तरीका भी बदलता गया और अब लोग अपने प्यार को जाहिर करने के लिए खून से अपने प्रेमिका की पैन्टिन्ग बना कर अपना प्यार जाहिर कर रहे है।

  • ये कहानी है चेन्नई के एक लड़के की जिसका नाम गणेशन है
  • 20 साल के गणेशन की गर्लफ्रेंड का पिछले साल 10 दिसंबर को बर्थडे था।
  • गणेशन अपनी गर्लफ्रेंड को कोई यूनीक गिफ्ट देना चाहता था, जिससे उसका प्यार सबसे अलग दिखाई दे ।
  • इस दौरान उसके एक दोस्त ने उसे ‘ब्लड आर्ट’ के बारे में बताया।
  • एक ऐसी पेटिंग जिसमें आप अपने खून से अपने किसी की भी तस्वीर बनवा सकते हैं।

पेटिंग बनवाने के लिए 5 मिली लीटर दिया खून: Blood Painting

गणेशन को यह आइडिया काफी यूनीक लगा। वो चेन्नई के एक ऐसे ही स्टूडियो में गया। यहां पर गणेशन ने A4 साइज की पेटिंग बनवाने के लिए 5 मिली लीटर खून दिया। आप को बता दे की तमिलानाडु में गणेशन की तरह ही ऐसे सैकड़ों मामले आए हैं, जिसमें लोग अपने प्यार के लिए खूनीे पेंटिंग बनवाते नजर आए ।

आप को बताते चले की 28 दिसंबर 2022 को तमिलनाडु के हेल्थ मिनिस्टर एमए सुब्रमण्यम अचानक खून से पेटिंग बनाने वाले एक स्टूडियो में पहुंचे । यहां पर पेंटिंग के लिए रखे गए कई ब्लड की शीशियों और नीडिल्स को देखकर वह हैरान रह जाते हैं। वही उन्होंने बिना सोच विचार किये ही उसी वक्त खून से पेटिंग बनाने वाले स्टूडियो पर बैन करने का ऐलान कर देते हैं।

प्यार और स्नेह दिखाने के कई और तरीके हैं: Blood Painting

  • मंत्री सुब्रमण्यम ने कहा कि कोई व्यक्ति या संस्था खून से पेंटिंग बनाते पाए जाते हैं.
  • तो उसके खिलाफ आपराधिक कार्रवाई की जाएगी।
  • सुब्रमण्यम ने कहा कि- ‘ब्लड आर्ट दण्डनीय है।
  • ब्लड डोनेशन एक पवित्र कार्य है।
  • ऐसे उद्देश्यों के लिए खून निकालना मंजूर नहीं है।
  • प्यार और स्नेह दिखाने के कई और तरीके हैं।
  • जांच के दौरान यह भी पता चला कि स्टूडियो में ब्लड लेने की प्रक्रिया प्रोटोकॉल के अनुसार नहीं होती है।
  • यहां एक ही नीडिल से कई लोगों का ब्लड निकालने के लिए यूज होती है।
  • इससे आम लोगों में इंफेक्शन फैलने का भी खतरा होता है।

अब तक 250 से ज्यादा ब्लड पेंटिंग बना चुकी है: Blood Painting

वैसे तो दिल्ली की एक संस्था ‘शहीद स्मृति चेतना समिति’ अपने सदस्यों द्वारा दान किए गए खून का प्रयोग देशभक्तों की पेंटिंग बनाने के लिए कर रही है। रवि चंद्र गुप्ता नाम के रिटायर स्कूल प्रिंसिपल ने इस संस्था की शुरुआत की थी।

ये संस्था अब तक 250 से ज्यादा ब्लड पेंटिंग बना चुकी है। यहां बने ब्लड पेंटिंग देशभर के संग्रहालयों में ले जाए जाते हैं। इस संगठन के प्रमुख प्रेम शुक्ला का कहना है कि संगठन के सदस्यों से ब्लड लेने के लिए वह सभी नियमों और मापदंडों का पालन करते हैं। उनका कहना है कि लोगों में देशभक्ति जगाने के लिए ऐसा किया जाता है ।

Show More

Related Articles

Back to top button