बजट 202

Budget 2023: निर्मला सीतारमण 5वां बजट पेश कर नया रिकॉर्ड बनाएंगी, नेहरू, इंदिरा और राजीव गांधी को पीछे छोड़ नया मुकाम हासिल करेंगी

Budget 2023: केंद्रीय बजट साल 2023-24 के लिए 1 फरवरी को पेश किया जाएगा. निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) इसे केंद्रीय वित्‍त मंत्री...

Budget 2023: केंद्रीय बजट साल 2023-24 के लिए 1 फरवरी को पेश किया जाएगा. निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) इसे केंद्रीय वित्‍त मंत्री संसद की निचली सदन लोकसभा में पेश करेंगी. इस बजट के साथ वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण देश के प्रथम प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरू, इंदिरा गांधी, चौधरी चरण सिंह, राजीव गांधी और एनडी तिवारी जैसे महान नेताओं को पीछे छोड़ अपना पांचवां बजट पेश करेंगी. निर्मला सीतारमण साथ ही कई नए रिकॉर्ड भी बना चुकी हैं.

इन्‍होंने सिर्फ एक बार पेश किया बजट: Budget 2023:

देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू, चौधरी चरण सिंह, इंदिरा गांधी, एनडी तिवारी, राजीव गांधी, मधु दंडवते, सचिंद्र चौधरी और एसबी चव्हाण वित्‍त मंत्री रहते हुए एक-एक बार देश का बजट पेश किया था. 5वां बजट पेश कर निर्मला सीतारमण इन नेताओं को पीछे छोड़ देंगी.

इन्‍होंने सबसे ज्‍यादा बार बजट पेश किया

मोरारजी देसाई के पास अब तक सबसे ज्‍यादा बार बजट पेश करने का रिकॉर्ड है, मोरारजी देसाई 10 बार बजट पेश किया है. इसके बाद इस लिस्‍ट पर पी चिदंबरम का नाम दूसरे नंबर पर आता है. 9 बार चिदंबरम ने बजट पेश किया. प्रणब मुखर्जी का नाम तीसरे नंबर पर आता है, 8 बार उन्‍होंने बजट पेश किया. 7-7 बार बजट यशवंत राव चह्वाण, सीडी देशमुख और यशवंत सिन्हा ने पेश किया. वहीं, 6-6 बार बजट मनमोहन सिंह और टीटी कृष्णमाचारी ने पेश किया.

निर्मला सीतारमण ने बनाए ये 5 रिकॉर्ड

  1. सबसे लंबा बजट पेश करने की अगर बात करें का तो निर्मला सीतारमण का नाम सबसे पहले आता है. निर्मला सीतारमण ने साल 2019 में बनाए गए अपने ही 2 घंटे 17 मिनट के लंबे भाषण का रिकॉर्ड तोड़ा था. उन्‍होंने 2 घंटे 40 मिनट बजट भाषण दिया था. वहीं, देश का 800 शब्दों का सबसे छोटा बजट भाषण था. इसे 1977 में देश के 11वें वित्त मंत्री हीरूभाई मुलजीभाई पटेल ने पेश किया था.

2. फरवरी 2020 में निर्मला सीतारमण ने पहला बजट पेश कर पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की बराबरी की थी. 1970 में बजट इंदिरा गांधी ने प्रधानमंत्री के साथ वित्त मंत्री की जिम्मेदारी निभाते हुए पेश किया था.

3.अपना तीसरा बजट 2021 में निर्मला सीतारमण ने पेश किया था. इस बजट ने भी देश के पहले डिजिटल या पेपरलैस बजट होने का हिस्ट्री बनायीं थी. बजट दस्तावेज की जगह वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण लाल रंग के फोल्डर में टैबलेट लेकर संसद पहुंचीं. इस दौरान उन्होंने तमिल, कश्मीरी कविताओं के साथ संस्कृत के तमाम श्लोक भी पढ़े थे. हालांकि, आखिरी दो पेज वह गला खराब होने के कारण बजट के पढ़ नहीं सकी थीं.

  1. सत्र 31 जनवरी से इस बार बजट शुरू होने की संभावना है. वहीं, 1 फरवरी को बजट पेश किया जाएगा. 6 अप्रैल तक इस बार बजट सत्र जारी रहने की उम्मीद है. इसी के साथ माना जा रहा है कि संसदीय सत्र भी समाप्त हो जाएगा.
  2. देश के वित्‍त मंत्री बजट संबंधी कागजात इससे पहले ब्रीफकेस में लेकर आते थे. लेकिन 2019 में निर्मला सीतारमण एक फाइल में बजट के दस्तावेज लेकर आईं. फाइल पर राष्ट्रीय प्रतीक छपा था. इसे बही-खाता कहा गया. दरअसल बजट फ्रेंच शब्द bougette से निकला है, जिसका मतलब होता है ब्रीफकेस.

Show More

Related Articles

Back to top button