India Newsउत्तराखंड

Joshimath: जोशीमठ, अटाली गांव में आई दरारों का रेल परियोजना पर कोई प्रभाव नहीं, नागरिक रहें निश्चिंत

Joshimath: जोशीमठ, अटाली गांव में आई दरारों का रेल परियोजना पर कोई प्रभाव नहीं, नागरिक रहें निश्चिंत

Joshimath: जोशीमठ में कोई रेल परियोजना स्वीकृत नहीं, मीडिया से बातचीत में दी जानकारी

  • ब्यासी के अटाली गांव में आई दरारों के लिए लोगों को चिंता किए जाने की कोई आवश्यकता नहीं है।
  • क्योंकि रेल विकास निगम की तैयार की जा रही.
  • ऋषिकेश कर्णप्रयाग परियोजना की गुणवत्ता और सुरक्षा मानकों की दृष्टि से पूरी तरह सुरक्षित है।
  • मंगलवार को यह बात रेल विकास निगम परियोजना के मुख्य प्रबंधक अजीत सिंह यादव,
  • प्रबंधक ओपी मालगुडी और भूपेंद्र यादव ने संयुक्त रूप से मीडिया से बातचीत में दी।

जोशीमठ में रेल विकास निगम

  • इस दौरान उन्होंने बताया कि जोशीमठ में रेल विकास निगम की कोई परियोजना प्रस्तावित नहीं है।
  • उनकी परियोजना का कार्य ऋषिकेश कर्णपयाग के आगे शौकोट तक सीमित है,
  • जिसका भूगर्भीय विभाग के साथ सभी विभागों ने स्थलीय निरीक्षण कर उसकी फिजिबिलिटी को परखा गया है।
  • उन्होंने बताया कि पहले यह सर्वे जोशीमठ तक किया गया था.
  • लेकिन उसमें जोशीमठ की ऊंचाई उनके के मापदंडों से अधिक थी।
  • इसलिए इस परियोजना को ध्यान में रखते हुए पीपलकोटी तक सर्वे किया गया है।

Read Also: Joshimath Badrinath : जोशीमठ का जिम्मेदार कौन, क्या कहानियों में रह जाएगा उत्तराखंड ?

कार्य शैकोट: Joshimath

  • उनका कहना था कि अभी उनका कार्य शैकोट तक चल रहा है.
  • जिसकी सभी फिजिबिलिटी उनके मापदंडों के हिसाब से सही पाई गई है।
  • उन्होंने कहा कि जोशीमठ और अटाली गांव में आई दरारों का रेल परियोजना पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा.
  • क्योंकि उनके द्वारा सुरंगों का जो कार्य किया जा रहा है।
  • उसकी भौगोलिक स्थिति प्रत्येक घंटे में जांची जाती है।
  • उन्होंने बताया कि पहले यह परियोजना सोनप्रयाग तक ले जाई जानी थी.
  • जिसका सर्वे भी किया गया था लेकिन 19 मई 2022 को इस परियोजना को उनके मापदंडों पर किए गए.
  • सर्वेक्षण के बाद बंद कर दिया गया है।

Show More

Related Articles

Back to top button