State Newsहरियाणा

Kaithal: निजी यूनिवर्सिटी के चांसलर सहित पांच अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज

Kaithal: नीलम यूनिवर्सिटी के एक प्रोफेसर ने यूनिवर्सिटी के विभागाध्यक्ष, रजिस्ट्रार, परीक्षा नियंत्रक, डीएन रिसर्च, चांसलर के खिलाफ जाति...

Kaithal: कैथल, 16 नवंबर, नीलम यूनिवर्सिटी के एक प्रोफेसर ने यूनिवर्सिटी के विभागाध्यक्ष, रजिस्ट्रार, परीक्षा नियंत्रक, डीएन रिसर्च, चांसलर के खिलाफ जाति सूचक शब्द कहने, मानसिक तौर से परेशान करने, छूआछात की नजर से देखने, जातिसूचक गालियां देने, पी.एच.डी. की डिग्री से वचिंत करने, जबरदस्ती नौकरी से निकालने, बदतमीजी करने, गंदी-गंदी गालियां देने, कई दस्तावेजों पर जबरदस्ती हस्ताक्षर करवाने, झूठे आरोप लगाने, झूठे मुकदमे मे फंसाने की धमकी देने व जान से मारने की धमकी देने पर मामला दर्ज कराया है।

थाना सदर पुलिस ने यूनिवर्सिटी की विभागाध्यक्ष: Kaithal

थाना सदर पुलिस ने यूनिवर्सिटी की विभागाध्यक्ष चित्रा मुदद्गल, सुरेन्द्र कुमार वशिष्ठ जाति शर्मा, डी.एन. रिसर्च, डॉ. राजीव दहिया, रजिस्टरार, बलजीत सिंह चहल परिक्षा नियंत्रक, मनिद्र सिंह नय्यैर चालंसर ऑफ नीलम यूनिवर्सिटी के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है।

हुडा के सेक्टर 20 में रहने वाले विकास दीप कोहली ने पुलिस में दी शिकायत में कहा है कि वह गांव क्योड़क की नीलम यूनिवर्सिटी में बतौर असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर नियुक्त हुआ था। यूनिवर्सिटी के सभी अधिकारी व कर्मचारी उसे जाति तौर पर जानते हैं। फिर भी यह लोग उसके जाति के बारे में पता चलने पर उसे हीन भावना से देखने लगे।

अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज

  • इन लोगों ने षड्यंत्र के तहत उसे पद से रिजाइन देने के लिए दबाव बनाया।
  • जिस कारण उसने 21 जून 2022 को रजिस्ट्रार पद से रिजाइन कर दिया।
  • उसके बाद वह 16 अगस्त 2022 से लॉ डिपार्टमेंट में असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर कार्यरत है।
  • 10 अक्टूबर को उसने प्रोफेसर चित्रा मुद्गल से यूनिवर्सिटी में पूछा कि मैडम आपने उसका पीएचडी का प्री सबमिशन किस कारण रद्द कर दिया।
  • इस पर वह तैश में आए आ गई और बोली कि सभी एससी अंबेडकर बनेंगे क्या।
  • उसके बाद उसने उसे कई जाति सूचक शब्द कहे।
  • यूनिवर्सिटी के दूसरे अधिकारी भी वहां मौजूद थे और उसकी हां में हां मिला रहे थे।
  • यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार ने 20 अक्टूबर को उसे अपने कार्यालय में बुलाकर धमकाया और जबरदस्ती एक लेटर पर साइन करवा लिए।
  • एसपी मकसूद अहमद ने कहा है कि पुलिस ने यूनिवर्सिटी के 5 अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।
  • पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।
  • जांच के बाद ही आगामी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button