India Newsअध्यात्म

Lohri 2023: इस बार 14 जनवरी को मनाई जाएगी लोहड़ी, जानिए कारण और महत्व

Lohri 2023: मकर संक्रांति से ठीक एक दिन पहले लोहड़ी का त्योहार हिंदू पंचांग के अनुसार मनाया जाताा है. लोहड़ी का त्योहार आमतौर पर13 जनवरी...

Lohri 2023: मकर संक्रांति से ठीक एक दिन पहले लोहड़ी का त्योहार हिंदू पंचांग के अनुसार मनाया जाताा है. लोहड़ी का त्योहार आमतौर पर13 जनवरी के दिन पड़ता है. लेकिन इस बार लोहड़ी व मकर संक्रांति की तारीख को लेकर लोगों के बीच काफी कंफ्यूजन चल रहे है. आप भी ऐसे में अगर लोहड़ी की डेट को लेकर कंफ्यूजन में हो तो हम आपको बताएगे इसकी सही डेट क्या हैं इस साल यानि 2023 कब मनाया जाएगा लोहड़ी का त्योहार?

कब है लोहड़ी 13 या 14 जनवरी?: Lohri 2023

हिंदू पंचांग के अनुसार जब सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है तो मकर संक्रांति मनाई जाती है और इस बार सूर्य 14 जनवरी की रात को मकर राशि में प्रवेश करेगा इसी कारण 15 जनवरी को मकर संक्रांति का त्योहार मनाया जाएगा. जैसा की आप जानते हो लोहड़ी का त्योहार मकर संक्रांति के ठीक एक दिन पहले मनाया जाता है. इसलिए इस साल लोहड़ी 13 जनवरी को नहीं मनाई जाएगी, बल्कि​ 14 जनवरी को मनाई जाएगी.

लोहड़ी के क्या महत्व हैं

लोहड़ी का त्योहार भी होली की तरह हे होता है इस दिन एक स्थान पर आग जलाई जाती है. और लोग इस आग का घेरा बनाकर नाचते गाते हैं. सभी लोग मिलकर अग्नि को तिल, गुड़ से बनी मिठाइयां अर्पित करते हैं. मान्यता है कि ऐसा करने से जीवन में सुख-समृद्धि मिलती है लोहड़ी ठंड के महीनों के आखिर का प्रतीक होती है, इसलिए लोग सूर्य देव की पूजा करते हैं और उन्हें जल भी अर्पित करते हैं. इस दिन किसान भी अपनी अच्छी फसल के लिए प्रार्थना करते हैं. अग्नि जलाने का महत्व यह है कि इस दिन अग्नि देव को तिल, गुड़ से बनी मिठाइयां चढ़ाने से जीवन से सभी नकारात्मकता दूर होती है और समृद्धि आती है. अग्नि को भोजन अर्पित करते हैं, लोग अग्नि देवता से आशीर्वाद, समृद्धि और खुशी मांगते हैं.

किसानों के लिए नया साल है लोहड़ी: Lohri 2023

लोहड़ी ज्यादातर पंजाबी लोग मानते है. पंजाबी किसान इस दिन, कटाई शुरू होने से पहले प्रार्थना करते हैं और अपनी फसलों के लिए आभार प्रकट करते हैं. भगवान अग्नि देवता से उनकी भूमि को आशीर्वाद देने की प्रार्थना करते हैं. वे आग के चारों ओर नाचते घूमते हुए ‘आदर ऐ दिलतेर जाए’ का जाप करते हैं.
यह भी माना जाता है कि लोहड़ी पर अगर कोई अग्नि देवता के चारों ओर घूमता है, तो यह समृद्धि लाने में मदद करता है. पंजाब में, इस त्योहार पर नई दुल्हनों के लिए विशेष महत्व रखता है. कई भक्तों का मानना ​​है कि उनकी चिंताओं का खात्मा होता है और जीवन में सुख-समृद्धि आती है. इस दिन पंजाबी लोग ढोल नगाड़ों पर भंगड़ा करते हैं और परिवार के साथ त्योहार का आनंद लेते हैं. अग्नि देवता के पूजन का यह पावन त्योहार पंजाब में बेहद खास माना जाता है और हर्षोउल्लास के साथ मनाया जाता है.

Disclaimer: दी गई सभी जानकारी सामाजिक और धार्मिक आस्थाओं पर आधारित हैं. Spice News India इसकी पुष्टि नहीं करता. आपको इसके लिए किसी एक्सपर्ट की सलाह अवश्य लें.

Show More

Related Articles

Back to top button