India News

MP Sex Racket: MP के इन गाँवों में चलता है खुलेआम जिस्मफरोशी का धंधा…

MP Sex Racket: बांछड़ा समाज की महिलाएं इस कुप्रथा को लंबे अरसे से ढोती आ रही है। कहतें है शाम होते ही हाइवे के किनारे डेरे गुलजार हो जाते हैं

MP Sex Racket: कुछ दिनों पहले उच्चतम न्यायालय ने एक अहम फैसला लिया था। फैसले में उच्चतम न्यायालय ने कहा कि वेश्यावृत्ति भी एक प्रोफेशन है और पुलिस को उनके काम में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए।

MP Sex Racket: इस फैसले के अपने-अपने मायने निकाले जा रहे हैं

उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद अब MP के मालवा में अचानक हलचल बढ़ गई है, आपको बता दे की मध्य प्रदेश के नीमच, मंदसौर तथा रतलाम में एक धर्म विशेष की महिलाऐं देह व्यापार को कुप्रथा के तौर पर कब से ढो रही हैं। ऐसे में अब उच्चतम न्यायालय के इस फैसले के अपने-अपने ही मायने निकाले जा रहे हैं।

MP Sex Racket: जबरन देह व्यापार कराया जा रहा था

गौरतलब है की MP के नीमच, मंदसौर, रतलाम जैसे शहरों से गुजरने वाले NH के किनारे तकरीबन 50 से 60 से भी ज्यादा ऐसे डेरे हैं, जहां पर देह व्यापार खुलेआम होता है। पिछले साल MP पुलिस ने कई छापामार कार्रवाइयों में इन ठिकानों से सैकड़ों ऐसी बच्चियों को छुड़ाया था, जिनसे जबरन देह व्यापार कराया जा रहा था।

बांछड़ा समाज की महिलाएं इस कुप्रथा को लंबे अरसे से ढोती चली आ रही है

बता दे की बांछड़ा समाज की महिलाएं इस कुप्रथा को लंबे अरसे से ढोती चली आ रही है। कहतें है शाम होते ही हाइवे के किनारे की बस्तियां और डेरे गुलजार हो जाते हैं। ऐसे में अब उच्चतम न्यायालय ने अपने फैसले में कहा है कि सेक्स वर्कर्स को उनकी व्यवसायगत स्वतंत्रता होनी ही चाहिए। पुलिस, प्रशासन या तंत्र उन्हें बिना कारण परेशान नहीं कर सकती। उच्चतम न्यायालय ने कहा उन्हें भी सम्मान से जीने का अधिकार है। कोर्ट के इस फैसले के बाद से अब इस समुदाय में खासी हलचल है। यहां तक की सुधारवादी विचारक अब ये भी चिंता जता रहे हैं कि इन फैसले की आड़ में नाबालिग बच्चियों के शोषण बढ़ सकतें है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button