India Newsझारखण्ड

झारखंड में कब लगेगा नक्सलवाद पर नकेल,criminal cases of Naxalites in Jharkhand

दुमका में नक्सलियों ने ठेकेदार से मांगी 5.70 करोड़ की फिरौती नहीं देने पर अंजाम भुगतने की दी धमकी दी।

झारखंड में सरकार किसी भी दल की हो पर नक्सलवाद पर नकेल कसने में सभी सरकारों की पकड ढीली पडने लगती है। नक्सलवाद का यह निशान झारखंड के माथे पर दशको से कलंक की तरह चिपका हुआ है और राज्य की हेमंत सोरेन (Hemant Soren) की सरकार भी इस मामले में पूरी तरह से निष्क्रिय साबित हुई है। शायद यही कारण है कि झारखंड में नक्सलियों के आपराधिक मामले(naxalite cases of crime )आम बात हो गई है। पिछले कुछ दिनों में नक्सलियों से जुडे तीन बडे मामले सामने आए है।

दुमका में ठेकेदार से मांगी 5.70 करोड़ की फिरौती

दुमका में नक्सलियों ने ठेकेदार से मांगी 5.70 करोड़ की फिरौती नहीं देने पर अंजाम भुगतने की दी धमकी दी। नक्सल प्रभावित काठीकुंड में सड़क निर्माण करा रही सिलीगुड़ी के कंपनी के ठेकेदार से नक्सलियों ने 5 करोड 70लाख की फिरौती मांगी है। रकम नहीं देने पर काम रोक देने की धमकी दी है। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) बिहार, झारखंड सीमांत जोनल कमेटी के लेटर पैड पर धमकी भरा पत्र 26 दिसंबर को ठेकेदार अशोक चौधरी को भेजा गया। पत्र में संगठन की कार्य प्रणाली की चर्चा करते हुए इस बात पर नाराजगी जताई है कि बिना सहमति लिए सड़क निर्माण कार्य कैसे शुरू कर दिया। 30 दिसंबर तक 10 प्रतिशत लेवी की दर पर 5 करोड़ 70 लाख रुपये गोपीकांदर में एक स्थान पर पहुंचाने का फरमान पत्र में दिया गया था। 29 दिसंबर को अशोक चौधरी को फोन पर भी धमकी भरा कॉल आया था। इस कॉल में लेवी की मांग की गई। उल्लेखनीय है कि प्रखंड में गांधी चौक से कड़बिंधा पथ का निर्माण करीब 57 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है। करीब 22 किलोमीटर लंबी इस सड़क का निर्माण का काम सिलीगुड़ी की कंस्ट्रक्शन कंपनी केमेक इंजीनियर्स प्राईवेट लिमिटेड को मिला है। अशोक चौधरी केमेक इंजीनियर्स प्राइवेट लिमिटेड के अधिकृत व्यक्ति है।

लैंडमाइंस ब्लास्ट में तीन जवान घायल

वहीं दूसरा मामला पश्चिमी सिंहभूम के चाईबासा में हुए लैंडमाइंस ब्लास्ट में घायल तीन जवानों को शुक्रवार को एयरलिफ्ट कर दिल्ली भेजा गया है। सभी जवान मेडिका अस्पताल में भर्ती थे। मेडिका अस्पताल प्रबंधन के मुताबिक तीन जवानों की स्थिति गंभीर थी, जिन्हें दिल्ली रेफर किया गया है। घायल जवानों के नाम शाहरुख खान, भरत सिंह राय और अजय लिंडा हैं। अस्पताल से भगवान बिरसा मुंडा एयरपोर्ट के बीच ग्रीन कॉरिडोर बनाकर उन्हें एयरपोर्ट पहुंचाया गया है। उल्लेखनीय है कि पश्चिमी सिंहभूम के तुम्बाहाका जंगल के पास बुधवार को भाकपा (माओवादी) नक्सलियों और सुरक्षा बलों में मुठभेड़ के बाद आईईडी ब्लास्ट में कोबरा बटालियन के छह जवान घायल हो गए थे। सभी जवानों को हेलिकॉप्टर से रांची लाकर मेडिका अस्पताल में भर्ती किया गया था। इनमें अजय लिंडा, शाहरुख खान, भरत सिंह राय को गंभीर रूप से चोटें आई थी । नक्सलियों की यह घटना (naxalite cases of crime ) कोई आम बात नहीं है ,इन घटनाओ ने झारखंड सरकार के ऩाक में दम कर रखा है पर सरकारी की नीतियाँ इस प्रकार की घटनाओं को रोकने के लिए कारगर साबित नहीं हो रहीं है ।

Show More

Related Articles

Back to top button