India Newsमध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश से पकड़ा गया आतंकी पहले भी कर चुका है हत्या की कोशिश, कोर्ट में लगाया था तालिबानी नारा

कोलकाता पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) के हाथों मध्य प्रदेश के खंडवा से गिरफ्तार आतंकी अब्दुल रकीब कुरैशी (33) से लगातार पूछताछ और जांच में कई चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। पता चला है कि वर्ष 2009 में वह हिंदू समुदाय के एक व्यक्ति की हत्या की कोशिश के आरोप में गिरफ्तार हुआ था लेकिन उसे रिहा कर दिया गया। उसके बाद 2014 में खंडवा की कोर्ट में पेशी के दौरान तालिबानी नारे भी लगाए गए थे। इसके बाद उसे फिर जेल में रखा गया लेकिन जमानत पर छोड़ा गया था।

सोशल मीडिया के जरिए पकडा गया आतंकी

छूटने के बाद रकीब ने सोशल मीडिया के जरिए पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के पास हावड़ा से पकड़े गए दोनों आतंकी मोहम्मद सद्दाम और सईद अहमद से संपर्क साधा। तीनों बंगाल और मध्य प्रदेश से भागकर किसी अन्य राज्य में गतिविधियों को अंजाम देने वाले थे। एसटीएफ के उपायुक्त आईपीएस वी सोलेमन नेशा कुमार ने गुरुवार सुबह इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि तीनों आतंकियों को आमने-सामने बिठाकर पूछताछ चल रही है। रकीब को बुधवार बैंकशाल कोर्ट में पेश किया गया था जहां से उसे 23 जनवरी तक के लिए पुलिस हिरासत में लेकर पूछताछ हो रही है। रकीब को मध्य प्रदेश के खंडवा से सोमवार को गिरफ्तार किया गया। कुमार ने बताया कि गत छह जनवरी को हावड़ा से मोहम्मद सद्दाम (28) और सईद अहमद (30) नाम के दो आतंकियों को पकड़ा गया था। दोनों से लगातार पूछताछ के बाद रकीब के बारे में जानकारी मिली थी। तुरंत एसटीएफ की टीम मध्य प्रदेश के लिए रवाना हो गई थी और सोमवार को स्थानीय कोतवाली थाने के साथ मिलकर छापेमारी कर उसे धर दबोचा गया।

SIMI के भी सदस्य रह चुके है तीनो आतंकी

उसके पास से मोबाइल फोन, एक पेनड्राइव और कई संदिग्ध दस्तावेज बरामद किए गए हैं। रकीब को पहले भी आतंकी गतिविधियों के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। वह SIMI(Students’ Islamic Movement of India) के भी सदस्य रह चुका है।

Show More

Related Articles

Back to top button