India NewsInternational

Uzbekistan Cough Syrup Death: स्वास्थ्य मंत्री ने आरोपी दवा कंपनी के खिलाफ लिया एक्शन! पूरा प्रोडक्शन किया बंद

Uzbekistan Cough Syrup Death: भारतीय कफ सिरप से उज्बेकिस्तान में बच्चों की मौत का दावा किया जा रहा है. इस पूरे मामले पर केंद्रीय...

Uzbekistan Cough Syrup Death: भारतीय कफ सिरप से उज्बेकिस्तान में बच्चों की मौत का दावा किया जा रहा है. इस पूरे मामले पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय अपनी नजर बनाए हुए है. ट्विटर के जरिये स्वाथ्य मंत्री ने अपना बयान दिया.

पूरा प्रोडक्शन किया बंद: Uzbekistan Cough Syrup Death

  • उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की टीम ने खांसी की दवाई डॉक-1 मैक्स (Dok1 Max) में अशुद्धि की रिपोर्ट को धयान में रखते हुए मैरियन बायोटेक की सभी दवाओं के उत्पादन को 29 दिसंबर से रोक लगा दी है.
  • इस मामले में आगे की जांच जारी है.
  • बता दें कि 18 बच्चों की कथित तौर पर खांसी की दवाई से उज्बेकिस्तान (Uzbekistan) में मौत के बाद से नोएडा की कंपनी मैरियन बायोटेक सवालों के घेरे में है.
  • भारत सरकार (Indian Govt) अलर्ट हो गई है उज्बेकिस्तान के इस दावे के बाद.
  • उज्बेकिस्तान में बच्चों की मौत को इंडियन कफ सिरप (Indian Cough Syrup) से जोड़ने के बाद हताहत होने वाले बच्चों को लेकर केंद्र की सरकार ने रिपोर्ट मांगी है.
https://twitter.com/mansukhmandviya/status/1608715292091486210?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1608715292091486210%7Ctwgr%5E0bee11a3322e040ff58b54a0a6b65ecf5f08fc95%7Ctwcon%5Es1_&ref_url=https%3A%2F%2Fwww.abplive.com%2Fnews%2Findia%2Fuzbekistan-cough-syrup-death-mansukh-mandaviya-instructed-to-stop-all-production-of-marion-biotech-company-2295314

स्वास्थ्य विभाग ने लिया एक्शन: Uzbekistan

18 बच्चों की कथित मौत के दावों को लेकर उज्बेकिस्तान में केंद्रीय स्वास्थय विभाग इस मामले में किसी भी तरह की लापरवाही नहीं बरतना चाहता. मनसुख मांडविया केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री खुद इस मामले पर नजर बनाए हुए हैं. उन्होंने कहा कि दवा कंपनी की जांच के आधार पर आगे फैसला किया जायेगा और सख्त कदम उठाया जाएगा. उज्बेकिस्तान के स्वास्थ्य मंत्रालय (Ministry of Health) ने आरोप लगाया है कि बच्चों की डेथ डॉक-1 मैक्स दवा पीने से हुई है. U.P सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि मैरियन बायोटेक कंपनी भारत में खांसी की दवा डॉक -1 मैक्स नहीं बेचती और केवल उज्बेकिस्तान को इसका निर्यात किया गया है.
मांडविया ने बताया कि खांसी की दवा के नमूने नोएडा स्थित कंपनी के परिसर से लिए गए हैं. और रीजनल ड्रग टेस्टिंग लेबोरेटरी (आरडीटीएल) चंडीगढ़ को जांच के लिए भेजे गए हैं. इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग की टीम ने खांसी की दवाई डॉक -1 मैक्स (Dok1 Max) में अशुद्धि की रिपोर्ट को ध्यान में रखते हुए मैरियन बायोटेक की सभी दवाओं के उत्पादन को गुरुवार (29 दिसंबर) रात से रोक लगा दी है.

18 बच्चों की मौता का दावा उज्बेकिस्तान ने किया है

उज्बेकिस्तान के स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि मरने वाले 18 बच्चों ने डॉक-1 मैक्स सिरप का सेवन किया था. मैरियन बायोटेक ने इसका निर्माण किया था जो की नोएडा में है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने दावा किया है कि जांच में पाया गया है मृत बच्चों ने अस्पताल में भर्ती होने से पहले इस दवा को 2-7 दिनों के लिए दिन में 3-4 बार लिया था. जिसकी वजह से बच्चों कि मौत हुई है. अब उज्बेकिस्तान सरकार ने भारत सरकार से इस मामले में जांच करने और आरोपी कंपनी के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की है.

Show More

Related Articles

Back to top button